List of chief justices of India in Hindi
General Knowledge In Hindi National Issues slider

List of chief justices of India in Hindi | भारत के मुख्य न्यायाधीश

List of chief justices of India in Hindi
List of chief justices of India in Hindi भारत के सर्वोच्च न्यायालय के सभी मुख्य न्यायाधीश|



List of chief justices of India in Hindi: हैलो दोस्तों स्वागत हैं आपका मेरे “www.joblour.com”, इस आर्टिक्ल में हम, हमारे प्यारे भारत के सभी मुख्य न्यायाधी बारे में जानेगें। सन 1950 से अभी तक भारत के 47 मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किये जा चुके हैं उन सभी का नाम, कार्यकाल और किस राष्ट्रपति द्वारा उन्हें नियुक्त किया गया हैं? इस आर्टिकल्स में दिया गया हैं तो चलिए शुरू करते हैं-



List of chief justices of India in Hindi




परिचय



भारत के मुख्य न्यायाधीश सर्वोच्च न्यायालय के प्रमुख होते हैं और वह भारत की न्यायपालिका के प्रमुख भी होते हैं।

CJI वह है जो न्यायाधीशों की संवैधानिक पीठों की नियुक्ति के लिए जिम्मेदार है और उन मामलों को आवंटित करता है जो कानून और व्यवस्था के महत्वपूर्ण मामले हैं।

मुख्य न्यायाधीश सर्वोच्च न्यायालय के अन्य सभी न्यायाधीशों को काम के आवंटन के लिए जिम्मेदार होता है और अन्य न्यायाधीशों को उसे मामले की सूचना देनी होती है।

यदि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति किसी भी कारण से उपलब्ध नहीं हैं, तो मुख्य न्यायाधीश राष्ट्रपति के रूप में कार्य करेंगे।

इस मामले में, CJI कार्यवाहक अध्यक्ष हैं। राष्ट्रपति जाकिर हुसैन की मृत्यु और उपराष्ट्रपति के इस्तीफे के समय इसका पालन किया गया था।

भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबड़े हैं और वे पहले गणतंत्र दिवस के बाद से और सर्वोच्च न्यायालय के अस्तित्व में आने के बाद से 47 वें CJI भी हैं।

नीचे भारत के सर्वोच्च न्यायालय के सभी मुख्य न्यायाधीशों की एक सूची दी गई है, जिसमें उनका कार्यकाल शामिल है और उन्हें किस राष्ट्रपति ने नियुक्त किया है –



List of All Chief Justices of India in Hindi




नाम कार्यकाल राष्ट्रपति द्वारा
एच. जे. कनिया
(1890–1951)
26 जनवरी 1950 से 6 नवंबर 1951 तकराजेंद्र प्रशाद
एम। पतंजलि शास्त्री
(1889-1963)
7 नवंबर 1951 से 3 जनवरी 1954 तकराजेंद्र प्रशाद
मेहर चंद महाजन
(1889-1967)
4 जनवरी 1954 से 22 दिसंबर 1954 तकराजेंद्र प्रशाद
बिजन कुमार मुखर्जी
(1891–1956)
23 दिसंबर 1954 से 31 जनवरी 1956 तकराजेंद्र प्रशाद
सुधि रंजन दास
(1894-1977)
1 फरवरी 1956 से 30 सितंबर 1959 तकराजेंद्र प्रशाद
भुवनेश्वर प्रसाद सिन्हा
(1899-1986)
1 अक्टूबर 1959 से 31 जनवरी 1964 तकराजेंद्र प्रशाद
पी. बी. गजेंद्रगढ़कर
(1901-1981)
1 फरवरी 1964 से 15 मार्च 1966 तकसर्वपल्ली राधाकृष्णन
अमल कुमार सरकार
(1901-अज्ञात)
16 मार्च 1966 से 29 जून 1966 तकसर्वपल्ली राधाकृष्णन
कोका सुब्बा राव
(1902-1976)
30 जून 1966 से 11 अप्रैल 1967 तक सर्वपल्ली राधाकृष्णन
कैलास नाथ वांचू
(1903-1988)
12 अप्रैल 1967 से 24 फरवरी 1968 तकसर्वपल्ली राधाकृष्णन
मोहम्मद हिदायतुल्लाह
(1905-1992)
25 फरवरी 1968 से 16 दिसंबर 1970 तकजाकिर हुसैन
जयंतीलाल छोटेलाल शाह
(1906-1991)
17 दिसंबर 1970 से 21 जनवरी 1971 तकवराहगिरि वेंकट गिरि
सर्वमित्र सिकरी
(1908-1992)
22 जनवरी 1971 से 25 अप्रैल 1973 तक वराहगिरि वेंकट गिरि
ए. एन. रे
(1912-2009)
26 अप्रैल 1973 से 27 जनवरी 1977 तकवराहगिरि वेंकट गिरि
मिर्ज़ा हमीदुल्ला बेग
(1913-1988)
29 जनवरी 1977 से 21 फरवरी 1978 तकफखरुद्दीन अली अहमद
वाई. वी. चंद्रचूड़
(1920-2008)
22 फरवरी 1978 से 11 जुलाई 1985 तकनीलम संजीव रेड्डी
पी. एन. भगवती
(1921-2017)
12 जुलाई 1985 से 20 दिसंबर 1986 तकजैल सिंह
Raghunandan Swarup Pathak
(1924–2007)
21 दिसंबर 1986 से 18 जून 1989 तकजैल सिंह
एंगलागुप्पे सीथारमैया वेंकटरमैया
(1924-1997)
19 जून 1989 से 17 दिसंबर 1989 तकरामास्वामी वेंकटरमन
सब्यसाची मुखर्जी
(1927-1990)
18 दिसंबर 1989 से 25 सितंबर 1990 तकरामास्वामी वेंकटरमन
रंगनाथ मिश्रा
(1926-2012)
26 सितंबर 1990 से 24 नवंबर 1991 तकरामास्वामी वेंकटरमन
कमल नारायण सिंह
(1926-)
25 नवंबर 1991 से 12 दिसंबर 1991 तकरामास्वामी वेंकटरमन
मधुकर हीरालाल कानिया
(1927-2016)
13 दिसंबर 1991 से 17 नवंबर 1992 तकरामास्वामी वेंकटरमन
ललित मोहन शर्मा
(1928-2008)
18 नवंबर 1992 से 11 फरवरी 1993 तकरामास्वामी वेंकटरमन
एम. एन. वेंकटचलिया
(1929-)
12 फरवरी 1993 से 24 अक्टूबर 1994 तकरामास्वामी वेंकटरमन
अजीज मुशब्बर अहमदी
(1932-)
25 अक्टूबर 1994 से 24 मार्च 1997 तकरामास्वामी वेंकटरमन
जे.एस. वर्मा
(1933-2013)
25 मार्च 1997 से 17 जनवरी 1998 तकरामास्वामी वेंकटरमन
मदन मोहन पंची
(1933-2015)
18 जनवरी 1998 से 9 अक्टूबर 1998 तककोचरिल रमन नारायणन
आदर्श सीन आनंद
(1936-2017)
10 अक्टूबर 1998 से 31 अक्टूबर 2001 तककोचरिल रमन नारायणन
सैम पिरोज भरूचा
(1937-)
1 नवंबर 2001 से 5 मई 2002कोचरिल रमन नारायणन
भूपिंदर नाथ कृपाल
(1937-)
6 मई 2002 से 7 नवंबर 2002 तककोचरिल रमन नारायणन
गोपाल बल्लाव पट्टनायक
(1937-)
8 नवंबर 2002 से 18 दिसंबर 2002 तकए पी जे अब्दुल कलाम
वी. एन. खरे
(1939-)
19 दिसंबर 2002 से 1 मई 2004 तकए पी जे अब्दुल कलाम
एस राजेंद्र बाबू
(1939-)
2 मई 2004 से 31 मई 2004 तक ए पी जे अब्दुल कलाम
रमेश चंद्र लाहोटी
(1940-)
1 जून 2004 से 31 अक्टूबर 2005 तक ए पी जे अब्दुल कलाम
योगेश कुमार सभरवाल
(1942-2015)
1 नवंबर 2005 से 13 जनवरी 2007 तक ए पी जे अब्दुल कलाम
के जी बालकृष्णन
(1945)
14 जनवरी 2007 से 12 मई 2010 तक ए पी जे अब्दुल कलाम
एस एच कपाड़िया
(1947-2016)
12 मई 2010 से 28 सितंबर 2012 तकप्रतिभा पाटिल
अल्तमस कबीर
(1948-2017)
29 सितंबर 2012 से 18 जुलाई 2013 तकप्रणब मुखर्जी
पी सतशिवम
(1949-)
19 जुलाई 2013 से 26 अप्रैल 2014 तकप्रणब मुखर्जी
राजेंद्र मल लोढ़ा
(1949-)
27 अप्रैल 2014 से 27 सितंबर 2014 तकप्रणब मुखर्जी
एच एल दत्तु
(1950-)
28 सितंबर 2014 से 2 दिसंबर 2015 तकप्रणब मुखर्जी
टी एस ठाकुर
(1952-)
3 दिसंबर 2015 से 3 जनवरी 2017 तक प्रणब मुखर्जी
जगदीश सिंह खेहर
(1952-)
4 जनवरी 2017 से 27 अगस्त 2017 तक प्रणब मुखर्जी
दीपक मिश्रा
(1953-)
28 अगस्त 2017 से 2 अक्टूबर 2018 तकराम नाथ कोविंद
रंजन गोगोई
(1954-)
3 अक्टूबर 2018 से 17 नवंबर 2019 तक राम नाथ कोविंद
शरद अरविंद बोबड़े
(1956-)
18 November 2019 से 23 अप्रैल 2021 तक ( अभी हैं ) राम नाथ कोविंद




जाने भारत के सर्वोच्च न्यायालय के सभी मुख्य न्यायाधीश




भारत के मुख्य न्यायाधीश को कैसे नामित किया जाता है?


चीफ जस्टिस की नियुक्ति के लिए भारत का राष्ट्रपति जिम्मेदार है।

CJI की न्यूनतम आवश्यकता यह है कि वह सर्वोच्च न्यायालय के सभी 31 न्यायाधीशों में उम्र के अनुसार सबसे वरिष्ठ व्यक्ति हो। यह नियम 1973 और 1977 में केवल दो बार टूटा था।

राष्ट्रपति सर्वोच्च न्यायालय के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश की नियुक्ति करने जा रहा है और वह CJI के शपथ समारोह में मुख्य अतिथि भी होगा।




सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के लिए eligibility criteria क्या होता हैं?


एक व्यक्ति को भारतीय होना चाहिए। उसे किसी उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में कम से कम 5 वर्ष का अनुभव या किसी उच्च न्यायालय में अधिवक्ता के रूप में 10 वर्ष का अनुभव होना चाहिए। उसे राष्ट्र के राष्ट्रपति की राय में एक प्रतिष्ठित व्यक्ति होना चाहिए। उसकी आयु 65 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।




सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों का कार्यकाल कितना होता हैं ?


65 वर्ष तक ही आयु होने तक वह सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों का कार्यभार संभाल सकते हैं। या फिर दोनों सदनों में दो-तिहाई बहुमत महाभियोग ( दुर्व्यवहार या असमर्थता के सिद्ध ) होने पर।

हम आशा करते हैं यह आर्टिकल जोकि सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों के बारे में हैं आपको पसंद आया होगा। और ऐसे ही जानकारी बाले आर्टिकल्स पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट (www.joblour.com) को चेक कर सकते हैं और यदि आप हमारे Facebook and Twitter पेज से जुड़ना चाहते हैं तो उन्हें भी फॉलो कर सकते हैं.



Some Important Articles




Joblour Team
Joblour is a Platform where you can get Govt. Jobs Notifications, result Notifications, Admit Card Notifications as well as Content for your preparation.
https://www.joblour.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *